गुड फ्राइडे  Good Friday

ईसा मसीह को यीशु के नाम से भी पुकारा जाता है। इसाई धर्म में ईशा मसीह को ईश्वर माना जाता है | ईशा मसीह को को क्रॉस पर लटकाया गया था | इसलिए गुड फ्राइडे मनाते है | ईशा मसीह “गुड फ्राइडे”(Good Friday) के दिन ही क्रॉस पर लटकाया गया था।

हालाँकि ये एक दुःख का दिन है परन्तु इसको गुड फ्राइडे इसलिए कहते और मानते है क्यों की इस दिन ईशा मसीह  लोगो के लिए , हमारे लिए क्रॉस पर लटक गए | उन्होंने लोगो को सचाई और प्रेम पर चलने की प्रेरणा दी | इसलिए लोग इसको गुड फ्राइडे कहा जाता है |

ईसा मसीह ने अपने जीवन में लोगों के वीच प्रेम और विश्वास जगाया | गुड फ्राइडे के दिन ईसा मसीह के जीवन और उपदेशो को याद किया जाता है और सुना – सुनाया जाता है | कुछ लोग ईसा मसीह को याद करते हुए इस दिन काले कपड़े पहनकर शोक भी व्यक्त करते हैं।

Good Friday

Good Friday को होली फ्राइडे ( Holy Friday ), ब्लैक फ्राइडे ( Black Friday ) और ग्रेट फ्राइडे ( Great Friday ) भी कहते हैं.

Good Friday को ईसाई धर्म के लोग कैलवरी में ईसा मसीह को क्रॉस पर चढ़ाने के कारण हुई मृत्यु के कारण मनाया जाता है |

ईसा मसीह को क्रॉस पर  क्यों लटकाया गया था ?

ईसा मसीह  पर यह आरोप लगाया था की वो झूट मुठ का खुद को ईश्वर का पुत्र बताकर ढोंग और पाखंड कर रहे हैं ।

इसाई धर्म  के लोग ईसा मसीह के बलिदान को याद करके बाइबल ( Bible)  का पाठ करते है |

गुड फ्राइडे के त्यौहार के प्रथम चरण में प्रार्थना की का आयोजन होता है जो चर्च, पोप, पादरी और चर्च में आने वाले गृहस्थों, प्रभु यीशु मसीह में विश्वास नहीं करने वालों, और विशेष तौर पर जरूरतमंद लोगों के लिए की जाती है |

Good Friday के त्यौहार के दूसरे चरण में क्रॉस की पूजा की जाती है | इसमें पारम्परिक ढंग से प्रभु यीशु के लिए गीत गाये जाते हैं |

देखें – भारत के महत्वपूर्ण त्यौहार और दिन

Good Friday के त्यौहार के तीसरे चरण में पवित्र भोज का आयोजन किया जाता है | प्रार्थना सभा में अभिमंत्रित प्रसाद को सभी लोगो में वितरित किया जाता है | आपसभी को प्रभु इशु हमेशा कल्याण करें |