कावेरी का कुरूक्षेत्र हो जाना

गंगा च यमुने चैव गोदावरी सरस्वती |  नर्मदे सिंधु कावेरी जलेस्मिन संनिधिम कुरु || पढ़ते कभी ना सोचा था की

Read more