धूम्रपान न करें Quit Smoking

धूम्रपान से खतरा

भारत में धूम्रपान एक बहुत बड़ी समस्या के रूप में उभर रहा है हज़ारों की संख्या में लोग इसके चपेट में आ रहे है इससे होने वाली बिमारियों से प्रति वर्ष एक बहुत बड़ी जनसँख्या दम तोड़ रही है जैसा की हमें पता है की आज कल के युवा गलत संगती में आकर बहुत आसानी से इन आदतों के शिकार हो रहे है|  यह नए पीढ़ी के युवा वर्ग को लगता है की धूम्रपान का प्रयोग वे ख़ाली समय मे कर सकते है पर जैसे की हमे ये मालूम है की कोई भी चीज लगातार करने से हमे उसकी आदत हो जाती है और हम चाह कर भी उस आदत को छोर नही पाते है | धूम्रपान करने का मतलब है की बहुत सारे बीमारियाँ हमारे सरीर मे घर कर जाती है |और हमे मौत के दरवाजे तक पहुंचा देती है|

s3
सिगरेट जो की निकोटीन से बना होता है जब हम सिगरेट पीते है तोह निकोटीन lungs के सहारे हमारे खून मे शामिल हो जाता है जो  एक प्रकार के विष के रूप मे काम करता है|

ये हमारे शरीर मे lungs,heart ,liver तथा दांतों पर भी प्रभाव डालता है| लगातार धूम्रपान का प्रयोग करने से हमारे दिमाग पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है,और हम अपने आप पर से संतुलन खो देते है | और बहुत बार हम तनाव मे चले जाते है,अगर हमे सही समय पे सही मात्रा मे सिगरेट नही मिलता है जिसके हम आदि होते है| अगर समय रहते हम इन आदतों से दूर नही हुए तो हमे lung कैंसर और mouth कैंसर जैसी बिमारियों के होने का खतरा रहता है| धूम्रपान के कारण 90% lung कैंसर होते है| जिससे हमारी जान भी जा सकती है| इससे न सिर्फ एक इंसान ही  प्रवाभित नही होता है बल्कि उसके परिवार वाले भी शरीरिक,मानसिक,वितीय रूप से प्रवाभित होते है| सबसे ज्यादा ये छोटे- छोटे बच्चो पर असर करता है क्युकी उनका शरीर पूरी तरह विकशित नही होता है| हर साल 430,000 नागरिक की मृत्यु धूम्रपान की वजह से होती है| युवा वर्ग को धूम्रपान करने से पहले यह सोचना चाहिए की उनके घर वाले जिन्हें कम आय मिलती है वह कैसे लाखो रुपये उन्हें ठीक करने के लिए खर्च करंगे|

अतःये युवा वर्ग को चाहिए की वो इन बुरी आदतों से दूर रहे और अपने स्वास्थ्य मे सुधार करे | और दुसरे व्यक्तियों को भी छोरने के लिए सलाह दे ताकि हम एक स्वस्थ जीवन वयातित करे|

s33

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *